[अरुण कौशिक]

यमुनानगर(हरियाणा) : मनोहर लाल खट्टर के हरियाणा को शायद किसी की नज़र लग गयी। तभी तो खट्टर के हरियाणा ने अपराध के मामले में दिल्ली की राह पकड़ ली है।हरियाणा में अकेले जनवरी महीने में ही एक के बाद एक इतनी वारदातें हुईं कि दिल्ली भी बोनी दिखाई देने लेगी है। ताज़ा वारदात यमुनानगर के एक स्कूल की है।यहां पर एक स्टूडेंट ने अपने स्कूल की प्रिंसिपल के सीने में ही गोलियां दाग दी। प्रिंसिपल को तीन गोलियां लगी और हॉस्पिटल में उनकी मौत हो गयी।
[Deceased Ms.Ritu Chabra}
 यमुनानगर के स्वामी विवेकानंद पब्लिक स्कूल में सैटरडे को पेरेंट्स मीट चल रही थी कि ताबड़तोड़ चली गोलियों से स्कूल परिसर में मौजूद सभी लोग सहम गए। तभी हाथ में पिस्तौल लिए 12 वीं क्लास का एक स्टूडेंट रूम से बाहर भागता हुआ आया और स्कूल से बाहर भागने की कोशिश करने लगा लेकिन स्कूल में तैनात गार्ड्स और स्टाफ ने लड़के को दबोच लिया।
[pc:jagran]
इस से पहले किसी को कुछ समझ आता तभी एक महिला की तीखी चीख से स्कूल प्रांगण पिन-ड्राप-साइलेंस हो गया। स्टाफ दौड़कर प्रिंसिपल ऋतु छाबड़ा के कमरे की तरफ दौड़ा। जिसने भी कमरे के भीतर झांका उसकी सांस हलक में अटक गयी। कमरे के अंदर खून से लथपथ प्रिंसिपल ऋतु छाबड़ा ज़मीन पर पड़ी हुई थी। स्टाफ ने समय गवाएं ऋतु छाबड़ा को हॉस्पिटल पहुंचाया लेकिन होनी को कुछ और ही मंजूर था। हॉस्पिटल में डॉक्टरों की टीम ने ऋतु छाबड़ा को बचाने के लिए अपनी पूरी टीम झोंक दी लेकिन प्रिंसिपल ऋतु छाबड़ा को नहीं बचा पाए।
यह भी देखें :-   भाई से डर गया ‘BHAI’
वहां स्कूल में मातम पसरा पड़ा था। पुलिस के सीनियर ऑफिसर्स भी लाव-लश्कर के साथ मौका-ए-वारदात पर पहुंच चुके थे। स्कूल स्टाफ ने कातिल स्टूडेंट को पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने अपनी कागज़ी फोर्मिलिटी पूरी की और कातिल स्टूडेंट को लेकर पुलिस स्टेशन पहुंच गयी।
पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी स्टूडेंट की क्लास में कम अटेंडेंस होने के कारण उसे सस्पेंड किया गया था और उसे पैरेंट-टीचर्स मीट के लिए अपने पेरेंट्स को बुलाने को कहा गया था। स्टूडेंट अपने पेरेंट्स को लेकर स्कूल आया था लेकिन उसके मन में क्या चल रहा है इसे न तो प्रिंसिपल भांप पायी और न ही उसके पेरेंट्स। जब प्रिंसिपल ऋतु छाबड़ा ने पेरेंट्स से स्टूडेंट्स की कंप्लेंट की तो स्टूडेंट अपना अपमान सहन नहीं कर सका। स्टूडेंट ने अपने बैग से अपने ही पिता की लाइसेंसी पिस्तौल निकाली और प्रिंसिपल ऋतु छाबड़ा के सीने में ताबड़तोड़ गोलियां दाग दी।
पुलिस के मुताबिक स्टूडेंट की हरकत से तो यही लगता है कि उसने गुस्से में आकर प्रिंसिपल पर गोलियां नहीं चलायी बल्कि वो पूरी प्लानिंग के साथ स्कूल आया था। बहरहाल कातिल स्टूडेंट पुलिस की रिमांड पर है और पुलिस उसकी ‘कुंडली’ तैयार कर रही है ताकि उसे उसके किये गुनाह की सज़ा दिलवायी जा सके।
 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here