mumbai-local-logo

देश के इतिहास में पहली बार, सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों ने की प्रेस कॉर्फ्रेंस, लगाए सनसनीखेज आरोप !

0

नई दिल्ली

देश के इतिहास में पहली बार कुछ ऐसा हुआ, जिसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी। फ्राइडे को भारत की सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों ने के प्रेस कॉर्फ्रेंस करके पूरे देश को चौका दिया। सुप्रीम कोर्ट के 4 सीनियर जज जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस कुरियन जोसेफ, जस्टिस मदन लोकुर और जस्टिस चेलमेश्वर ने इस प्रेस कॉर्फ्रेंस को अड्रेस किया। इस दौरान उन्होंने चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा को लिखा अपना 7 पेज का लेटर भी पब्लिक किया।

प्रेस कॉर्फ्रेंस में जजों ने भारत के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा पर कोर्ट के संचालन में मनमानी करने के सनसनीखेज आरोप लगाये हैं। जजों ने कोर्ट की प्रशासकीय खामियों से देश को आज अवगत कराया। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट प्रशासन ठीक ढंग से काम नहीं कर रहा है। इसके अलावा जजों ने कुछ मामलों के असाइनमेंट को लेकर एतराज़ जताते हुए आरोप लगाया है कि चीफ जस्टिस की तरफ से कुछ मामलों को चुनिंदा बेंचों और जजों को ही दिया जा रहा है। जजों के इन आरोपों के बाद न्यायपालिका समेत देश की सियासत में भूचाल आ गया है।

जहां, सरकार ने इस मसले को सुप्रीम कोर्ट का अंदरूनी मामला बताते हुए इससे पल्ला झाड़ लिया, तो वहीं कांग्रेस ने इसे लोकतंत्र के लिए खतरा करार दिया। इस बीच खबर है कि इस मामले को पीएम नरेंद्र मोदी ने गंभीरता से लेते हुए कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद से बातचीत की है और पूरी रिपोर्ट मांगी है।

वहीं, इस बीच खबर है कि सुप्रीम कोर्ट के कामकाज पर सवाल उठाने वाले 4 सीनियर जजों के बाद अब चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा भी प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे और मीडिया के सामने आकर आरोपों पर अपनी बात रखेंगे।

Share.

About Author

Leave A Reply