mumbai-local-logo

मुंबई में भारी बारिश, IMD पहले ही जारी कर चुका है अलर्ट !

0

मुंबई

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई और आसपास के इलाकों में ट्यूसडे दोपहर से हो रही तेज़ बारिश अभी भी जारी है। करीब 8 घण्टे से हो रही लगातार बारिश से निचले इलाकों में पानी भी भर गया है। वहीं, ट्रेन पर ज़्यादा असर नहीं पड़ा है। लेकिन मुंबई की लाइफ लाइन थोड़ी स्लो ज़रूर हो गई और कुछ मिनटों की देरी से चल रही है। वहीं ट्रैफिक यातायात समान है। कुछ इलाकों में गाड़िया थोड़ी धीमी गति से आगे बढ़ रही है। हां, लेकिन खराब मौसम के चलते शाम को एयरपोर्ट के आसपास दृश्यता घटकर 250 मीटर तक ही रह गई।इसके चलते देर शाम छत्रपति शिवाजी एयरपोर्ट पर कई फ्लाइट्स रोक दी गई और 4 फ्लाइट्स को दूसरे एयरपोर्ट पर डायवर्ट किया गया है।

पढ़े – बारिश के दौरान मैनहोल में गिरे डॉ. अमरापुरकर की बॉडी दो दिन बाद वर्ली से बरामद !

गौरतलब है कि मौसम विभाग ने संडे को ही मुंबई और आसपास के इलाकों में अगले 72 घंटों में भारी बारिश का अलर्ट जारी कर दिया था।

भारतीय मौसम विभाग ने कोंकण और गोवा के जिलों के सुदूर इलाकों में 72 घंटे तक भारी बारिश होने की आशंका के साथ रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग जिलों समेत साऊथ कोंकण में ट्यूसडे को भारी बारिश होने की चेतावनी दी थी। साथ ही नार्थ कोंकण के सुदूर इलाकों में भी भारी बारिश की संभावना जताई थी। जिसमें मुंबई क्षेत्र, पालघर और रायगढ़ जिले आते हैं।

फिलहाल, आईएमडी ने अगले कुछ घण्टो तक इसी तरह तेज़ बारिश होने की चेतावनी दी है। आईएमडी के मुताबिक, साउथ-मिड महाराष्ट्र और बंगाल की खाड़ी के ऊपर हवा के कम दबाव की वजह भारी बारिश की संभावना बन रही है।

इस दौरान 29 अगस्त के बाद अब 19 सितंबर ने मुंबईकरों की मुसीबत बढ़ा दी। आज सुबह से ही आसमान में बादल छाए हुए थे और दोपहर के बाद बादलों की गड़गड़ाहट के साथ तेज़ बारिश भी होने लगी। साउथ मुंबई, बोरीवली, कांदिवली, अंधेरी और भांडुप में भारी बारिश दर्ज की गयी।

पढ़े – 29 अगस्त को हुई भारी बारिश से हुए नुकसान की भरपाई करेगी सरकार !

गौरतलब है कि बीतें 29 अगस्त को मुंबई में 331 मिमी बारिश हुई थी। इस दौरान मुंबईवासियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा था। 24 घंटे में 12 घंटे से ज़यादा समय तक लोग दफ्तरों और ट्रेनों में फंसे रहे थे। पूरे शहर में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए थे। लोगों की आखों में 12 साल पहले हुए 26 जुलाई का मंज़र आने लगा था। ये बारिश साल 1997 के बाद से अगस्त के एक दिन में सर्वाधिक बारिश रिकॉर्ड की गई थी।

Share.

About Author

Leave A Reply