कृपाशंकर सिंह की फैमिली को भी राहत –
 

मुंबई : जिस शख्स की मुंबई कांग्रेस में कभी तूती बोला करती थी,जिस पर पिछले कुछ सालों से साढ़ेसाती चढ़ी थी आज मुंबई कांग्रेस का यह लीडर बहुत खुश है। लोगों का दावा है कि कृपाशंकर सिंह पर भगवान शंकर की कृपा हुई है।

कृपा के अलावा पत्नी,बेटा,बेटी,दामाद थे आरोपी –
 
आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के मामले में स्पेशल कोर्ट ने कृपाशंकर सिंह और उनकी फैमिली को क्लीनचिट दे दी है। कृपाशंकर को इस मामले में पहले ही क्लीनचिट दे दी गयी थी। करप्शन के इस केस में मुंबई क्राइम ब्रांच की आर्थिक अपराध शाखा ने केस रजिस्टर किया था और कृपाशंकर सिंह के अलावा पत्नी मालती सिंह,बेटे नरेंद्र सिंह,बेटी सुनीता और दामाद विजय सिंह को भी आरोपी बनाया था।
 
भारी कीमत चुकानी पड़ी थी कृपा को –
 
जिस वक़्त कृपाशंकर सिंह पर करप्शन के आरोप लगे थे उस वक़्त वे एमएलए भी थी और मुंबई कांग्रेस के चीफ भी। पॉलिटिकल प्रेशर के कारण कृपाशंकर सिंह को मुंबई कांग्रेस चीफ की पोस्ट से रिजाइन देना पड़ा था।
 
विधानसभा अध्यक्ष ने नहीं दी थी एक्शन की परमिशन –
 
चूंकि कृपाशंकर सिंह एमएलए थे इसी लिए उन पर किसी प्रकार का कानूनी एक्शन लेने से पहले विधानसभा अध्यक्ष की परमिशन लेनी जरूरी होती है लेकिन इस मामले में क्राइम ब्रांच को कृपाशंकर सिंह के खिलाफ एक्शन लेने की परमिशन देने से विधानसभा अध्यक्ष ने साफ़ इंकार कर दिया था।
 
चीटिंग की थी क्राइम ब्रांच ने –
 
कृपाशंकर सिंह के वकील का दावा है कि क्राइम ब्रांच ने कोर्ट के सामने कभी भी इस बात का जिक्र नहीं किया कि विधानसभा अध्यक्ष ने कृपाशंकर सिंह के खिलाफ एक्शन लेने की परमिशन नहीं दी है।कोर्ट ने कृपाशंकर सिंह की दलील और क्राइम ब्रांच के साक्ष्यों को छुपाने के चलते अपना फैसला कृपाशंकर सिंह और उनकी फैमिली के फेवर में सुना दिया।
 
‘भैया’ पर हुई बीजेपी की कृपा ?
कुछ पॉलिटिकल पंडितों का यह भी दावा है कि कृपाशंकर सिंह पर भगवान शंकर की कृपा कम और बीजेपी की कृपा ज्यादा हुई है। बता दें कि राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि कृपाशंकर सिंह को हाथ का साथ नहीं मिला इसी लिए उन्होंने ‘कमल’ को सहलाने में अपनी भलाई समझी।
 
बीजेपी में जा सकते हैं ‘भैया’ ?
 
कृपाशंकर सिंह से जुड़े कुछ सूत्र यह भी दावा कर रहे हैं कि ‘भैया’ आगामी लोकसभा चुनाव में बीजेपी के टिकट पर सांसद का चुनाव लड़ सकते हैं लेकिनकृपाशंकर सिंह अपने इन करीबी सूत्रों के दावों से इत्तेफ़ाक़ नहीं रखते। कृपाशंकर सिंह ने साफ़ संकेत दे दिए हैं कि अब वे अपनी पूरी ताकत के साथ पॉलिटिक्स में रीएंट्री करेंगे जिसके लिए वे रणनीति तैयार कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here