[दिगंबर आर्य ]

मुंबई: महाराष्ट्र की राजनीति के बड़े खिलाडी और एनसीपी के सीनियर लीडर छगन भुजबल को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में बेल भले ही मिल गयी है लेकिन घर पहुंचने में उन्हें कुछ समय और लग सकता है।
 
डॉक्टरों ने दी कुछ समय हॉस्पिटल में रहने की सलाह –
 
खबर है कि छगन भुजबल की तबियत ख़राब है जिस वजह से डॉक्टरों ने उन्हें कुछ समय हॉस्पिटल में ही इलाज करवाने की सलाह दी है। छगन भुजबल से जुड़े लोगों ने बताया कि जब तक ‘साहब’ की हेल्थ ठीक नहीं हो जाती तब तक वे डॉक्टरों की निगरानी में ही रहेंगे।
 
मनी-लॉन्ड्रिंग केस में 2 साल से थे जेल में – 
 
गौरतलब हो कि मनी-लॉन्ड्रिंग केस में ईडी ने छगन भुजबल को दो साल पहले अरेस्ट किया था और तभी से वे मुंबई की ऑर्थर रोड जेल में कैद थे। छगन भुजबल की तरफ से कई बार बेल के लिए अर्जी दी गयी लेकिन कोर्ट ने हर बार उनकी अर्जी ख़ारिज कर दी,लेकिन इस बार जब उनके वकील ने उनकी ख़राब होती हेल्थ का हवाला देते हुए बेल की रिक्वेस्ट की तो कोर्ट ने अर्जी स्वीकार करते हुए छगन भुजबल को बेल दे दी।
 
अंजलि दमानिया ने बढ़ाई थी भुजबल की मुश्किलें –
बता दें की जब भी छगन भुजबल की तरफ से कोर्ट में बेल के लिए एप्लीकेशन दी गयी आप लीडर अंजलि दमानिया ने भी छगन भुजबल के कोई न कोई ऐसा सबूत पेश किया जिस वजह से बेल रेजिस्ट होती गयी। अंजलि के अलावा ईडी ने कोर्ट के सामने उस समय की एक सीडी और सीसीटीवी फुटेज पेश किये थे जब छगन भुजबल बीमारी के चलते बॉम्बे हॉस्पिटल में एडमिट थे।
 
हॉस्पिटल में ‘मजा’ करते हुए सीसीटीवी में कैद हुए थे भुजबल –
 
सीसीटीवी को आधार बनाकर ईडी ने दावा किया था कि छगन भुजबल ठीक हैं और उन्हें बेल नहीं दी जानी चाहिए। जो सीडी ईडी ने कोर्ट में पेश की थी उसमें छगन भुजबल बॉम्बे हॉस्पिटल में घूमते हुए और अपने लोगों से मीटिंग करते हुए दिखाई दिए थे।ईडी के इस सबूत कोर्ट बिफर गयी थी और बेल रिजेक्ट करते हुए छगन भुजबल को बॉम्बे हॉस्पिटल से तुरंत जे.जे.हॉस्पिटल में शिफ्ट करने के आदेश दिए थे।
1 हफ्ता रहेंगे हॉस्पिटल में –
 
छगन भुजबल कितने दिन हॉस्पिटल में डॉक्टरों की निगरानी में रहेंगे यह फिलहाल साफ़ नहीं हो पाया है लेकिन छगन भुजबल के करीबियों का कहना है कि ‘साहब’ को घर पहुंचने में फिर भी एक हफ्ता लग सकता है।
देखें वीडियो –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here