नई दिल्ली

नाबालिग से रेप मामले में साल 2013 से जेल में बंद आरोपी आसाराम पर 25 अप्रैल ( बुधवार) को जोधपुर की स्पेशल कोर्ट अपना फैसला सुनाएगी। खास बात ये है कि फैसला सुनाने के लिए जोधपुर सेंट्रल जेल में ही एक स्पेशल कोर्ट लगाए जाएगी। जिस पर सबकी निगाहें हैं। इसे देखते हुए शहर में सुरक्षा के कड़े इंतेज़ाम कर दिए गए है।

जोधपुर पुलिस एवं प्रशासन ने आसाराम समर्थकों को रोकने के प्रयास तेज कर दिए हैं। आसाराम के समर्थक शहर में नहीं जुट पाएं इसके लिए जोधपुर की सीमाएं सील कर दी गई हैं। शहर आने वाली बस, कारों की जांच से लेकर ट्रेन के यात्रियों तक पर नजर रखी जा रही है। शहर में 30 अप्रैल तक के लिए धारा-144 लागू कर दी गई है। होटलों-सरायों की हर 4 घंटे में तलाशी ली जा रही है।

पढ़े – सरोज खान का कास्टिंग काउच पर शर्मनाक बयान

इधर, आसाराम के आश्रमों द्वारा समर्थकों के लिए अपील जारी की जा रही हैं कि वे जोधपुर नहीं पहुंचे। खबर तो ये भी है कि फैसले से पहले आसाराम ने भी अपने समर्थकों को चिट्ठी लिखकर उनसे जोधपुर नहीं आने को कहा है।

आसाराम पर अपनी एक नाबालिग भक्त के साथ अगस्त 2013 में रेप कर उसे बंधक बनाने का आरोप है। आपको बता दें कि इस केस की सुनवाई के दौरान अभी तक 9 गवाहों पर हमले हो चुके है, जिनमे से तीन की मौत हो गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here