मुंबई: पहले एनसीपी,फिर शिवसेना और अब कांग्रेस। यहां बात हो रही है शिवसेना से कांग्रेस में शामिल हुए दलित नेता राम पंडागले की। राम पंडागले ने शिवसेना को छोड़कर कांग्रेस का दामन थाम लिया है। मुंबई कांग्रेस चीफ संजय निरुपम की मौजूदगी में राम पंडागले अपने कुछ खास कार्यकर्ताओं के साथ कांग्रेस में प्रवेश कर गए।

 
कांग्रेस का ‘हाथ’ थामते ही राम पंडागले ने प्राइम मिनिस्टर नरेंद्र मोदी, महाराष्ट्र गवर्नमेंट और बीजेपी की सहयोगी शिव सेना पर आरोपों की झड़ी लगा दी। राम पंडागले ने आरोप लगाए कि बीजेपी और सहयोगी पार्टियां दलित विरोधी हैं। राम पंडागले ने यहां तक कहा कि हिंदुस्तान में दलित कभी भी इतने लाचार नहीं थे जितने कि बीजेपी के राज में हो गए हैं।
 
बीजेपी पर आरोप लगाने के साथ ही राम पंडागले ने कांग्रेस सुप्रीमो राहुल गांधी की जमकर तारीफ की। राम पंडागले ने कहा,”कांग्रेस ही दलितों का उत्थान कर सकती है और जब राहुल गांधी प्राइम मिनिस्टर बनेंगे उसके बाद ही दलितों पर अत्याचार रुक सकतें हैं। ”
 
 
बता दें कि राम पंडागले कभी ताकतवर दलित नेता के रूप में उभरे थे और एनसीपी के कद्दावर नेता माने जाते थे लेकिन उन्होंने एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार पर दलित विरोधी आरोप लगते हुए एनसीपी को ‘राम-राम’ बोल दिया था और शिव सेना का ‘तीर-कमान’ उठा लिया था।   

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here