[मुरारी सिंह]

 
क्राइम ब्रांच ने पकड़ी आम की पेटी से 98 लाख की ओल्ड करेंसी –
 
ठाणे : कभी-कभी ओवर-कॉन्फिडेंस की बहुत भारी कीमत चुकानी पड़ती है। मुंबई के ईस्टर्न सबर्ब चेंबूर के रहने वाले एक बिजनेसमैन को उनका ओवर-कॉन्फिडेंस ले डूबा।
 
आम की पेटी डिलीवर करने निकला था बिजनेसमैन –
 
दरअसल चेंबूर का बिजनेसमैन प्रीतेश छाड़वा अपने ऑफिस से ठाणे के मुंब्रा एरिया में अपने राजदार को आम की ‘पेटी’ डिलीवरी करने निकला था। मुंबई की सरहद तो उसने कॉन्फिडेंस से पार कर ली लेकिन ठाणे में एंट्री करने के कुछ समय बाद ही कुछ लोगों ने उसकी कार को रोक लिया।
 
 
फंस गया क्राइम ब्रांच के बीच लेकिन… 
 
उन लोगों ने प्रीतेश को बताया कि वे लोग ठाणे क्राइम ब्रांच के ऑफिसर हैं। इन लोगों की बातें सुनकर प्रीतेश थोड़ा सा नर्वस हुआ लेकिन उसने अपने को संभाला और कॉन्फिडेंस से क्राइम ब्रांच के लोगों से उलझ गया। उसने क्राइम ब्रांच के लोगों को कार की तलाशी लेने का कहा। ऑफिसर्स को कार से कुछ भी संदिग्ध बरामद नहीं हुआ। 
 
ओवर-कॉन्फिडेंस ने फंसा दिया –
 
प्रीतेश की बोहें तन गयी और क्राइम ब्रांच की टीम को गरियाने लगा, तभी क्राइम ब्रांच के ऑफिसर को प्रीतेश का ओवर-कॉन्फिडेंस अटपटा लगा। क्राइम ब्रांच की टीम प्रीतेश को कार समेत क्राइम ब्रांच ऑफिस ले आयी। अब प्रीतेश की बेचैनी बढ़ने लगी थी। क्राइम ब्रांच के ऑफिसर्स को प्रीतेश के इसी हाव-भाव का इंतज़ार था।
 
यह न्यूज़ भी देखें :-यहाँ भी मर गयी थी इंसानियत।

 आम की पेटी के दो बॉक्स क्राइम ब्रांच को दे दिए –

प्रीतेश के बदलते हाव-भाव और तेवर देख कर उससे अपने स्टाइल में दोबारा पूछताछ की गयी। अब प्रीतेश अपने को संभाल नहीं पाया और उसने क्राइम ब्रांच की टीम के सामने आम की पेटी के दो बॉक्स रख दिए। जब क्राइम ब्रांच के ऑफिसर्स ने आम की पेटी तोड़ी तब उनके भी होश उड़ गए,वो इस लिए कि आम की पेटी में बैन की गयी 1000 रुपए की ओल्ड करेंसी के 4250 नोट और 500 रूपए की 11100 करेंसी कंसील की हुई थी।    
 
आम की पेटी से निकले 98 लाख रुपए –
 
प्रीतेश से बरामद की गयी ओल्ड करेंसी को जब काउंट किया गया तब पता चला कि क्राइम ब्रांच के हाथ 98 लाख रूपए की ओल्ड करेंसी लगी है। प्रीतेश ने इन्वेस्टीगेशन में बताया कि वो मुंब्रा में इस करेंसी के बदले नयी करेंसी चेंज करने जा रहा था। 
 
बैन करेंसी को वाइट करने का धंधा आज भी आबाद है – 
 
क्राइम ब्रांच प्रीतेश से जुड़े सभी राजदारों की लिस्ट तैयार कर रही है। क्राइम ब्रांच को शक है कि बैन करेंसी को वाइट करने का धंधा आज भी धड़ल्ले से चल रहा है। 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here