चाचा बाहर, भतीजा अंदर –
 
मुंबई: मनी-लॉन्ड्रिंग केस में दो साल से जेल की हवा खाने के बाद एनसीपी के सीनियर लीडर और महाराष्ट्र के फॉर्मर डिप्टी चीफ मिनिस्टर छगन भुजबल थर्सडे को अपने घर पहुंचे।
 
महाराष्ट्र भवन घोटाले में हुए थे चाचा-भतीजा –
 
बता दें कि नयी दिल्ली में बने महाराष्ट्र भवन घोटाले के सामने आने के बाद ईडी ने छगन भुजबल उनके भतीजे समीर भुजबल को मनी लॉन्ड्रिंग केस में अरेस्ट किया था। पिछले हफ्ते ही कोर्ट ने छगन भुजबल की बेल स्वीकार कर ली थी लेकिन ख़राब हेल्थ के चलते डॉक्टरों ने उन्हें कुछ दिन हॉस्पिटल में रहने की सलाह दी थी।
यह भी पढ़ें :- बीमार है भुजबल।
जेल से हॉस्पिटल,हॉस्पिटल घर –
 
थर्सडे को छगन भुजबल को हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कर दिया गया। भुजबल हॉस्पिटल से डिस्चार्ज होने के बाद मुंबई के वेस्टर्न सबर्ब सांताक्रूज़ स्थित अपने घर पर पहुंचे। अपने लीडर का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे थे कार्यकर्ताओं ने छगन भुजबल का गर्मजोशी से स्वागत किया।
देखें वीडियो :- Respected, जेल काटू नेता।
 
चाचा को बेल लेकिन भतीजे को जेल –
 
मनी लॉन्ड्रिंग केस में कोर्ट से छगन भुजबल को तो बेल मिल गयी लेकिन उनके भतीजे समीर भुजबल को फिलहाल राहत नहीं मिली है। कयास लगाए जा रहे हैं कि आगामी 10 जून को पुणे में होने वाली एनसीपी की सभा में छगन भुजबल लोगों को संबोधित कर सकते हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here