सीनियर जर्नलिस्ट अर्नब गोस्वामी के खिलाफ FIR रजिस्टर –
 
मुंबई: अपने आक्रामक अंदाज़ से देश के बड़े बड़े नेताओं को पसीना छुड़ाने वाले सीनियर जर्नलिस्ट अर्नब गोस्वामी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। मुंबई से कुछ ही किलोमीटर दूर अलीबाग पुलिस स्टेशन ने अर्नब गोस्वामी के अलावा उसके चैनल से जुड़े दो और लोगों के खिलाफ आबेटमेंट-ऑफ़-सुसाइड का केस रजिस्टर किया है।
pc:youtube
 
आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप –
 
अलीबाग पुलिस ने श्रीमती अक्षता अन्वय नाईक की कंप्लेंट के बाद सीनियर जर्नलिस्ट अर्नब गोस्वामी और उसके आदमियों के खिलाफ FIR रजिस्टर की है। बता दें कि श्रीमती अक्षता नाईक के पति अन्वय नाईक ने कुछ दिन पहले सुसाइड कर लिया था और सुसाइड से पहले अन्वय ने एक सुसाइड नोट लिख छोड़ा था।
 
सुसाइड नोट में है अर्नब का नाम –
 
पुलिस से मिली इनफार्मेशन के मुताबिक अन्वय नाईक से मिले सुसाइड नोट में साफ़ लिखा है कि रिपब्लिक चैनल से जुड़े अर्नव गोस्वामी,फ़िरोज़ शेख और नितेश शारदा की वजह से वो सुसाइड कर रहा है।
pc:Adgully.com
 
नहीं दे रहे थे काम का बकाया पैसा –
 
अन्वय नाईक की वाइफ अक्षता नाईक के आरोप हैं कि उसके पति ने रिपब्लिक चैनल में इंटीरियर का काम किया था और एक बड़ा अमाउंट बैलेंस रह गया था जिसे रिपब्लिक चैनल देने में आनाकानी कर रहा था। अक्षता का यह भी आरोप है कि जब भी उनके पति अन्वय ने चैनल से जुड़े तीनों लोगों से अपने बकाया रकम की बात की तब तब उन्हें धमकाया गया था।
 
जांच पूरी होने पर होगा स्ट्रिक्ट एक्शन –
 
फ़िलहाल पुलिस ने सुसाइड नोट का हवाला देते हुए अर्नब गोस्वामी,फ़िरोज़ शेख और नितेश शारदा के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने के सेक्शन के तहत केस रजिस्टर कर लिया है। अन्वय नाईक सुसाइड से जुड़े मामले की इन्वेस्टीगेशन कर रहे पुलिस ऑफिसर ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मामले की जांच की जा रही है और समय आने पर कानूनी एक्शन लिया जाएगा।
pc:youtube
 
हो सकती है 10 साल की जेल – 
 
जिया न्यूज़ मुंबई से बात करते हुए एडवोकेट विजेंद्र जाब्रा ने बताया कि आत्महत्या के लिए उकसाने का सेक्शन 306 IPC बेहद ही संगीन है और आरोपी को 10 साल तक की कैद भी हो सकती है।   

 

 देखें वीडियो :-

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here