एक्सटॉरशन केस में फंस सकती हैं अरुण गवली कंपनी की ‘मम्मी’ –

मुंबई: अंडरवर्ल्ड डॉन से पॉलिटिक्स में एंट्री करने वाले डॉन अरुण गवली उर्फ़ डैडी की वाइफ आशा गवली की टेंशन बढ़ती दिख रही है। पुणे पुलिस ने आशा गवली उर्फ़ ‘मम्मी’ को एक्सटॉरशन के एक मामले में हाज़िर होने के आदेश दिए हैं। 
 
गैंग को कौन ऑपरेट कर रहा है –
 
मुंबई अंडरवर्ल्ड के ‘डैडी’ यानि अरुण गवली के जेल में होने के कारण उसके गैंग को कौन ऑपरेट कर रहा है इस बात का पता लगाने के लिए मुंबई पुलिस सालों से लगी थी। मुंबई पुलिस अक्सर यही दावा करती रही कि गैंग को खुद ‘डैडी’ ऑपरेट कर रहा है लेकिन पुणे पुलिस की थ्योरी कुछ और इशारा कर रही है। 
 
बिजनेसमैन को धमकी और एक्सटॉरशन की डिमांड –
 
पुणे पुलिस में एक लोकल बिजनेसमैन ने कंप्लेंट रजिस्टर करवाई कि ‘डैडी’ और ‘मम्मी’ के नाम से कुछ लोग उसे धमका रहे हैं और उस से 5 लाख रुपए एक्सटॉरशन देने का दबाव डाल रहे हैं और एक्सटॉरशन न देने की एवज में उसे ‘ठोकने’ की धमकी दे रहे हैं। पुलिस ने इन्वेस्टीगेशन शुरू की और अरुण गवली गैंग से जुड़े मुजावर,सूरज यादव और बाला पठारे को अरेस्ट कर लिया।
 
गुंडों को दगडी चॉल से मिल रहे थे आर्डर –
 
इन्वेस्टीगेशन में इस बात का खुलासा हुआ कि तीनों को आदेश मुंबई की दगडी चॉल से मिल रहे थे। पुलिस को समझ आ गया कि जब ‘डैडी’ जेल के अंदर है तो फिर दगडी चॉल से गैंग को आर्डर ‘मम्मी’ के अलावा दूसरा कोई नहीं दे सकता। इसी लिए पुणे पुलिस ने ‘मम्मी’ आशा गवली को समन भेजकर तलब किया है।
 
अरुण गवली है ‘अंदर’ –
 
बता दें कि अरुण गवली उर्फ़ ‘डैडी’ साल 2008 में शिवसेना के कॉर्पोरेटर कमलाकर जामसांडेकर मर्डर केस में जेल में कैद है और इसी केस में ही मुजावर,सूरज यादव और बाला पठारे में अरेस्ट हुए थे। फिलहाल पुणे पुलिस ‘मम्मी’ के हाज़िर होने का इंतज़ार कर रही है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here