[दिगंबर आर्य ]

 
1993 मुंबई ब्लास्ट का साजिशकर्ता ताहिर टकला की जेल में मौत –

 
मुंबई: आतंकी दाऊद इब्राहिम के ‘खास’ गुर्गे ताहिर मर्चेंट उर्फ़ ताहिर टकला की पुणे की येरवडा जेल में मौत हो गयी। ताहिर टकला को मुंबई ब्लास्ट केस में फांसी की सजा सुनाई गयी थी।
 
चेस्ट पेन की शिकायत –
 
येरवडा जेल से मिली इनफार्मेशन के मुताबिक ताहिर मर्चेंट को ट्यूसडे नाईट चेस्ट पेन की शिकायत के बात पुणे के ससून हॉस्पिटल में एडमिट करवाया गया था लेकिन सुबह के करीब पौने चार बजे दिल का दौरा पड़ने से उसकी मौत हो गयी।
 
टाइगर मेमन का करीबी था ‘टकला’ –
 
ताहिर मर्चेंट को दुबई से डिपोर्ट किया गया था। सीबीआई का दावा है कि ताहिर मर्चेंट 1993 में मुंबई में हुए सिलसिलेवार बम ब्लास्ट का एक मास्टरमाइंड था और मुख्य साजिशकर्ता दाऊद इब्राहिम और टाइगर मेमन का बेहद करीबी रहा है।
 
1993 में हुए थे 12 धमाके –
 
गौरतलब हो कि 12 मार्च 1993 में मुंबई में सिलसिलेवार 12 धमाके हुए थे जिनमें 257 बेगुनाह लोगों की मौत हो गयी थी जबकि 718 गंभीर रूप से ज़ख़्मी हुए थे। ज़ख़्मी लोगों में कई तो ऐसे हैं जो आज भी मृतशैय्या पर मौत का इंतज़ार कर रहे हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here