मुंबई

काला हिरण शिकार मामले में जोधपुर सेंट्रल जेल में बंद सलमान खान को बड़ी राहत देते हुए जोधपुर सेशंस कोर्ट ने उन्हें बेल दे दी है। सलमान खान को 50-50 हजार के दो मुचलकों की शर्त पर कोर्ट ने बेल दी है।

इसके बाद पिछली 2 रातों से जोधपुर सेंट्रल जेल में कैदी नंबर 106 बनकर रह रहे सलमान खान आज ही जेल से बाहर आ जाएंगे। कोर्ट की ओर से आदेश जोधपुर सेंट्रल जेल भिजवाए जा रहे हैं। जिसके बाद टाइगर की आज शाम तक रिहाई की उम्मीद की जा रही है। इसके अलावा सलमान खान को बिना इजाजत देश न छोड़ने के आदेश दिए गए हैं। साथ ही सलमान को 7 मई, 2018 को कोर्ट में हाजिर होने के आदेश दिए गए हैं।

आपको बता दें कि रातों रात सेशंस कोर्ट के जज रवींद्र कुमार जोशी समेत राज्य के 87 जजों के ट्रांसफर के बाद सलमान की बेल पर सस्पेंस बना हुआ था। आखिरकार मगर जोशी ने शनिवार सुबह मामले की फिर से सुनवाई शुरू कर दी। लंच के बाद जज ने अपना फैसला सुनाया, कोर्ट का फैसला सलमान के हक़ में आया। बता दें कि जोशी ने शुक्रवार को सलमान को बेल देने पर फैसला सुरक्षित रखा था और अतिरिक्त दस्तावेज मंगाए थे।

पढ़े – सलमान की बेल पर बहस पूरी !

शनिवार को कोर्ट में बेल पर बहस के दौरान सलमान के वकील महेश बोरा और हस्‍तीमल सारस्‍वत ने कोर्ट में दलील दी कि उन्होंने 20 साल तक चले ट्रायल के दौरान कभी भी कोर्ट की अवहेलना नहीं की है, ऐसे में उन्हें राहत दी जानी चाहिए। साथ ही सलमान के वकील ने कहा वह निर्दोष हैं और उन्‍हें झूठा फंसाया गया है, इसके साथ ही उन्‍होंने सलमान के आर्म्‍स एक्‍ट में बरी किए जाने के मामले का भी हवाला दिया। सलमान के वकीलों की तरफ से दलील दी गई कि ‘सलमान हर सुनवाई पर कोर्ट में हाजिर रहे। वकीलों ने कहा सलमान को कई केस में जमानत भी मिली। उन्‍होंने कभी जमानत का दुरुपयोग नहीं किया।

सलमान को बेल मिलने की खबर बाहर आते ही उनके फैन्स खुशी से झूम उठे, सड़कों पर लोग खुशी मनाते दिखे और सेंट्रल जेल के बाहर भी भीड़ इकठ्ठा हो गई। इधर, मुंबई में सलमान के घर गैलेक्सी के बाहर सुबह से ही फैंस का जमावड़ा लगा हुआ है। सभी भाईजान की रिहाई की दुआएं मांग रहे थे। वहीं, जज के फैसले के साथ ही कोर्ट रूम में बैठे सलमान के वकीलों के अलावा उनकी बहनों अर्पिता और अल्विरा के चेहरे पर राहत नजर आई।

आपको बता दें कि 5 अप्रैल को सलमान को 1998 में फिल्म ‘हम साथ-साथ हैं’ की शूटिंग के दौरान दो दुर्लभ काले हिरणों के शिकार के आरोप में जोधपुर की चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट (CJM) कोर्ट ने 5 साल की सज़ा और 10 हज़ार रुपया जुर्माना लगाया गया था। वहीं, मामले में सह आरोपी रहे सैफ अली खान, तब्बू, सोनाली बेंद्रे और नीलम को कोर्ट ने बरी कर दिया था।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here