मुंबई

बॉल टैंपरिंग मामले के बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) ने स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर पर 12 महीने का बैन लगा दिया है। इसके साथ ही भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने भी स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर पर इस साल इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में बैन लगा दिया है। इस बैन से साफ़ है की दोनों खिलाड़ी अगले साल होने वाले वर्ल्ड कप में भी नहीं खेल पाएंगे। जिससे ऑस्ट्रेलियाई टीम को उसके वर्ल्ड कप मिशन में बड़ा झटका लगेगा।

घटना के बाद पहली बार मीडिया के सामने आये पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बॉल टैंपरिंग की घटना पर अपनी गलतियों को लेकर क्रिकेट फैंस से माफी मांगी है। मीडिया से बातचीत के दौरान स्मिथ प्रेस कॉन्फ्रेंस में फूट-फूटकर रोए। इसके साथ ही स्मिथ ने कहा कि उन्हें अपनी इस गलती का पछतावा जिंदगी भर रहेगा।

पढ़े – उद्धव ठाकरे ने किया इंतज़ार…लेकिन नहीं मिले फडणवीस !

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के पूर्व उपकप्तान डेविड वॉर्नर ने भी इस घटना पर अफसोस जताते हुए सोशल मीडिया पर न सिर्फ अपने फैंस से माफी मांगी है बल्कि अपने किए की जिम्मेदारी भी ली। उन्होंने साथ ही यह भी कहा है कि क्रिकेट पर यह दाग लगा है।

A post shared by David Warner (@davidwarner31) on

आपको बता दें कि स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर दोनों ही ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान और उपकप्तान के पोस्ट पर कार्यरत थे। वहीं, इस विवाद में शामिल सलामी बल्लेबाज कैमरून बेनक्रॉफ्ट को 9 महीने के लिए बैन कर दिया गया है।

गौरतलब है कि स्मिथ और उनकी टीम तब विवादों में आ गई थी जब साऊथ अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में कैमरून बेनक्रॉफ्ट को गेंद से छेड़छाड़ करते हुए पकड़ा गया था। जिसके बाद बेनक्रॉफ्ट तथा स्मिथ दोनों ने इस बात को कबूला था कि गेंद से छेड़छाड़ टीम की योजना थी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here